• HYiFi Lucknow

Article Writing कैसे करें और आर्टिकल लिखना सीखें

वैसे तो Article लिखा बहुत आसान होता है लेक़िन जब हम आर्टिकल लिखने बैठते है तो यह समझ नहीं आता क्या लिखें और क्या नहीं! हम समझ नही पाते कहाँ से शरू करे और कहाँ पर ख़त्म!इसलिए आपको Article Writing और Article Writing Format करने की जानकारी होनी चाहिए।

हम सब जानते हैं जब हम बोलते हैं तो उस पर हमार कंट्रोल नही होता और हम कुछ भी बोल सकते हैं लेकिन जब बात आती है लिखने की तो हमें सिर्फ़ उन्हीं बातों को लिखना होता है जो बेहद जरूरी है और साथ ही शब्दों का सही इस्तेमाल भी करना पड़ता है।


दरसल, आर्टिकल लिखना मतलब शब्दों का सही तरीके से इस्तेमाल करना ही हैं ताकि आप अपनी बातों को कम से कम शब्दों में और ज्यादा से ज्यादा जानकारी के साथ बयान कर सकें।


चूँकि बोलते समय व्यक्ति आपके सामने होता है तो आप अनुभव कर सकते है कि वह कहीं आपकी बातों से बोर तो नही हो रहा औऱ फिर आप उसी हिसाब से अपनी बातों में बदलाव भी कर सकतें है।


लेक़िन जब बात आती है Article Writing की तो ऐसा नहीं किया जा सकता इसलिए आपको ऐसा Article Writing Format रखना पड़ता हैं जिसे आपके रीडर्स या उस आर्टिकल को सुनने वाले अंत तक उसके साथ चिपके रहें।


अब ऐसा तभी किया जा सकता है जब आपको Article Writing क्या है और आर्टिकल कैसे लिखतें हैं और आज हम आपको Article Writing और साथ ही Article Writing Format कैसे करते हैं इसकी पूरी जानकारी देने वाले है तो चलिए बिल्कुल शरू से शरू करते है।


What is Article Writing – आर्टिकल लेखन क्या है

यह एक ऐसा तरीका है जिसके द्वारा हम किसी वस्तु विषय के बारे में रोचक तरीक़े से लिखकर जानकारी प्रदान करते हैं आप किसी भी विषय पर Article Writing कर सकते है जिसे हिंदी में “लेख”कहा जाता है।


Article Writing का सीधा संबंध जानकारी से होता हैं इसलिए हम जिस विषय पर लिखना चाहते है हमे उसकी जानकारी होनी चाहिए या फ़िर आप उस पर अच्छी तरह अध्ययन करके भी आर्टिकल लिख सकते है।


हमारे अनुसार Article Writing दो प्रकार की होती है पहली वह जिसके हर शब्द का अपना महत्व होता हैं और इसमें हर शब्द का चुनाव बहुत सोच समझ कर किया जाता हैं जैसे कवियों द्वारा कविता लेखन और हमारी गीता, पुराण, इत्यादि।


दूसरे तरह के वह आर्टिकल जिसमें किसी भी विषय पर अपनी जानकारी को सांझा करने के लिए सरल और साधारण भाषा का प्रयोग किया जाता है जैसे Blog Article, News Article, व्यक्तिगत राय, निबंध, टेक्नोलॉजी, स्वास्थ्य इत्यादी के बारे में लिखना।


हम आपको बता दे कि यह बात सही की Article Writing के लिए Writing Skill का होना बहुत जरूरी हैं परंतु यह भी सही है कि कोई भी Article Writing कर सकता हैं बस इसके लिए आपको आर्टिकल लिखने का सही तरीका पता होना चाहिए।


अगर आप किसी भी विषय पर Article Writing करना सीखना चाहते हैं तो हम आपको उन्ह बातों के बारे में बताने वाले है जिसकी मद्त से आप के बेहतरीन आर्टिकल लिख सकते हैं।


Article Writing Format – आर्टिकल लिखने का तरीका

आपको अपने आर्टिकल को रोचक तरीके से लिखना आना चाहिए ताकि जो उस आर्टिकल को एक बार पढ़ना शरू कर दे तो उसे अंत तक पढ़े और साथ ही आपके द्वारा लिखा गया आर्टिकल पढ़ने वाले के लिए लाभदायक होना चाहिए औऱ उसके सभी सवालों के जवाबों की पूर्ति होनी चाहिए।


इसलिए आपको आर्टिकल लिखने से पहले अपना Article Writing Format पता होना चाहिए कि आपको लिखने की शरुवात कैसे करनी है, कहाँ पर किसी बात को बताना है औऱ कैसे आर्टिकल को पूरा करना है इत्यादि।


हम आपको सभी पॉइंट को बारी-बारी से बताने वाले हैं जिसके इस्तेमाल से आप किसी भी विषय पर शानदार तरीक़े से Article Writing कर सकते हैं।


1. Article Writing Openning Section

यह सबसे अहम और ज़रूरी बात है कि आप अपने आर्टिकल की शरुवात कैसे करते हैं क्योंकि अगर आप शरुवात में ही रीडर्स को अपने साथ जोड़ने में कामयाब हो जाते है तो हो सकता है कि वह आपका पूरा आर्टिकल पढ़े।


जैसे किसी न्यूज़ चैनल पर शरुवात में ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया जाता हैं “गौर से देखिए इस मासूम बच्ची को” और बस इतना कहते ही हमारा पूरा ध्यान उस पर केंद्रित हो जाता हैं और हम उसे लगातार देखते रहते है।

कुछ इस तरह आपको भी अपनी इमेजिनेशन का इस्तेमाल करके अपने आर्टिकल की शरुवात करनी हैं और अपनी बातों को सीधे-सीधे न बताकर रोचक तरीके से पेश करना है।


साथ ही उस आर्टिकल में आप क्या-क्या बताने वाले हैं उसका भी वर्णन करें ताकि रीडर्स के सवाल आपके सवालों के साथ मिल जाये और वह उनका उत्तर जाने के लिए आपके आर्टिकल को पूरा पढ़े


उदाहरण के तौर पर आप लिख रहे है कि “मोबाइल इस्तेमाल करने के प्रभाव” के बारे में लिख रहे हैं जैसे

क्या आप जानते हैं आपके हाथों में जो स्मार्टफोन चौबीसों घंटे आपके साथ रहता हैं वह आपके लिए कितना खतरनाक हैं और उसे आपको कौन-कौन सी बीमारियां हो सकती हैं


आपको यह मज़ाक लग रहा होगा लेकिन यही सच्चाई हैं और इस बात का अनुमान आप ऐसे लगा सकते है कि लगातार मोबाइल इस्तेमाल करने से आपका सिर दर्द करने लगता है


और रात को आपको नींद नही आती हैं अगर आपके साथ भी ऐसा ही हो रहा है तो आप इस बीमारी के प्रभाव में आ चुके हैं लेकिन आप इसे कैसे बच सकते हैं जनाना चाहतें है…..बल्ला…बल्ला…बल्ला..बल्ला

इस तरह आप बातों को सिधे-सीधे न बताकर थोड़ा सा रोचक बनाये ताकि पढ़ने वाले भी आपकी इमेजिनेशन को पकड़ सकें औऱ अगर आप ऐसा करने में क़ामयाब हो जाते है तो वह आपका फैन बन बन जायेगा।


2. Article Writing Action Section


जब रीडर्स को आप अपने आर्टिकल के साथ जुड़ लेते है तो उसके बाद बारी आती हैं आर्टिकल के एक्शन पार्ट की! जिसमे आपको उसके सवालों का अब बारी-बारी से जवाब देना हैं जैसे

-“मोबाइल क्या है

-मोबाइल कैसे काम करता हैं

-मोबाइल कैसे इस्तेमाल करें


-मोबाइल कब इस्तेमाल करें

-मोबाइल से क्या-क्या बीमारी हो सकती है

-मोबाइल की बीमारियों से कैसे बचें इत्यादि”


यह किसी भी आर्टिकल का मैन हिस्सा होता है जिसमे आपको वह चीजें बतानी होती है जिसके लिए रीडर्स आपके आर्टिकल को पढ़ने के लिए आया हैं


अब आपको इन्ह सभी सवालों के जवाब पूरी ईमानदारी से देने है यह नही की आप कुछ भी बता दें इसके लिए आपको अच्छी जानकारी होनी चाहिए औऱ बहुत गहरी से लिखने के लिए पहले Google पर रिसर्च करें।


यहाँ पर आपको अपनी बातों को इतनी आसानी से समजाये कि उसे किसी औऱ आर्टिकल को पढ़ने की आवश्यकता महसूस नहीं हो इसके लिए आप तरह-तरह के उदाहरण दे सकते हैं।


3. Article Writing Closing Section


अब बारी आती है क्लोजिंग सेक्शन की जो उतना ही जरूरी होता है जितना जरूरी आर्टिकल ओपनिंग सेक्शन होता है क्योंकि एक बार रीडर्स को उसके सवालों के जवाब मिल जाते है तो वह आगे क्यों पढ़ेगा।


इसलिए यहाँ पर आपको पूरे आर्टिकल का एक ओवरव्यू लिखना है और साथ ही इस विषय से जुड़ीं हुई अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों को रीडर्स को बताना है जिसे वह आपके आर्टिकल के महत्व को समझ सकें।


और आर्टिकल को एक दम खत्म न करें इसके लिए भी बातों को थोड़ा और रोचक तरीक़े से बताये जिसे की रीडर्स का आकर्षण अंत तक बना रहे।


तो दोस्तों मुख्य रूप से किसी भी आर्टिकल के यह तीन हिस्से होते हैं जो आर्टिकल लिखने के तरीके को बेहतर बनाता हैं और यह एक आसान तरीका भी है जिसकी मद्त से आप की भी टॉपिक पर Article Writing कर सकते हैं।


अगर अब आप समझ चुके ही कि article Writing कैसे करते है तो अब आपके लिए यह जरूरी है कि article writing करते समय आपको किन बातों का ध्यान करना चाहिए ताकि आप article writing में और बेहतर बन सकें और अपने अंदर Writing Skill को और शानदार बना सकें।


Article Writing कैसे की जाती है


जब आप किसी भी विषय पर आर्टिकल लिखने बैठते है तो आपको बहुत सारी बातों को ध्यान रखना पड़ता है जो आपके Writing Skill को निखरता हैं इसलिए Article Writing के लिए इन्ह जरूरी बातों का ध्यान रखें।

1.इमेजिनेशन करना सीखें


यह Article Writing का सबसे महत्वपूर्ण अंग है क्योंकि जब आप कोई आर्टिकल लिखतें है तो उसे सिर्फ किसी एक व्यक्ति के लिए नही बल्कि हजारों-लाखों लोगों के लिए लिखते है।


और इमेजिनेशन ही एक ऐसी चीज है जिसे आप हर तरह का सीन क्रिएट कर सकते हैं इमेजिनेशन के जरिये ही आप अपने अंदर ही अंदर आर्टिकल का एक बेतरीन स्ट्रक्चर तैयार कर सकते है जो आपके रीडर्स को आपका पूरा आर्टिकल पढ़ने के लिए उत्साहित करता है।


2. शांत वातावरण


अपने अक़्सर किताबों-फ़ोटो और फिल्मों में देखा होगा कि एक Article Writer किसी शांत वातावरण में बैठकर लिखता है ऐसा इसलिए ताकि वह किसी भी तरीके से डिस्टर्ब न हो


ताकि वह अपनी इमेजिनेशन पर पूरी तरह से केंद्रित रह सकें क्योंकि हमारा मन बहुत चंचल हैं और अगर कोई हमें डिस्टर्ब कर देता है तो हम उस इमेजिनेशन से एक दम बहार आ जाते है औऱ फिर से उसपर केंद्रित होने में काफ़ी समय लग सकता है इसलिए Article Writing के लिए शांत वातावरण का चुनाव करें।


3. एक जैसे शब्दों का बार-बार प्रयोग न करें


अपने बहुत बार देखा होगा कि किसी आर्टिकल में एक ही शब्द का बार-बार प्रयोग किया जाता हैं और बहुत सारी लाइन और पैराग्राफ में एक ही बात दोहराई जाती हैं जिसे रीडर्स आपके आर्टिकल से बोर होने लगता है।

इसलिए एक जैसे शब्दों का प्रयोग न करके उसके जैसे समान अर्थ वाले शब्दों का प्रयोग करें जिसे रीडर्स को यह न लगे कि वह बार-बार की की लाइन पढ़ रहा है जैसे और, एवम, अथवा, इत्यादि।


4. ज़ीरो से लिखना शरू करें


आर्टिकल लेख में आपको यह नही पता होता कि आपका आर्टिकल कौन पढ़ेगा क्योंकि वह एक बच्चा भी हो सकता है और एक नवजवान भी हो सकता है और एक व्यस्क भी हो सकता है।


इसलिए आपको अपने आर्टिकल को बिल्कुल ज़ीरो से लिखना चाहिए ताकि हर वर्ग का व्यक्ति बहुत आसनी से समझ सकें क्योंकि जब आपके लिखे गए तथ्य लोगों के समझ नही आते तो वह आपके आर्टिकल को छोड़कर चले जाते है।


5. लिखा हुआ न काटे


अक़्सर हम अपने आर्टिकल में बहुत सारी बाते लिखते है ताकि हम अपने रीडर्स को अपने साथ जोड़ें रखें परन्तु कभी-कभी हमारे मन मे कुछ वाक्य आते हैं परंतु उसका पूरा पैराग्राफ न बनें के कारण हम उन्ह लाइन को काट देते हैं।


लेक़िन आपको इन्ह लाइन को काटने की बजाय उन्हें एक तरह रखना चाहिए क्योंकि ही लाइन बहुत बार उसी आर्टिकल में और अधिक लिखने में मदतगार होती हैं।


ख़ासकर जो लोग Article Writing में नये है उन्हें शरू के दिनों में आर्टिकल लिखने में समस्या आती हैं और वह बिल्कुल परफेक्ट आर्टिकल लिखने के चक्कर मे बार-बार लिखी गयी लाइन को काट देते है।


6. अपना अनुभव लिखें


अगर आप किसी ऐसे विषय पर लिख रहे हैं जिसमे आपका अपना कोई पर्सनल अनुभ है तो आपको उसी आधार पर अपने आर्टिकल को लिखना चाहिए।


क्योंकि हम सब की एक जैसी समस्याएं होती हैं और रीडर्स उस समय सबसे ज्यादा आर्टिकल को पढ़ने के लिए उत्साहित होता है जब उसे लगता है कि उसकी समस्या भी बिल्कुल ऐसी है और फिर वह उनका हल जाने के लिए अंत तक आर्टिकल पढ़ता है।


7. छोटे छोटे पैराग्राफ लिखें


जैसा कि हमने आपको शरुवात में ही बताया जब हम कोई Article Writing करने बैठते है टी हमें समझ नही आता क्या लिखे और क्या नहीं इसलिए शरूवाती दिनों में आपको छोटे-छोटे पैराग्राफ में लिख़ने से शरुवात करनी हैं।


क्योंकि ऐसा करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आपको प्रेरित करेगा कि आप औऱ बेहतर लिखें इस तरह आप अपनी Article Writing की शरुवात कर सकते है।


8. रिसर्च करना सीखें


ऐसा जरूरी नही है कि आपको हर विषय की अच्छी जानकारी हो इसलिए किसी भी विषय पर लिखने से पहले आपको उस पर गहन अध्ययन की आवश्यकता होती है तभी आप एक क्वालिटी आर्टिकल लिख पाते है।


इसलिए आर्टिकल लिखने से पहले Google की मद्त से रिसर्च करें और साथ ही यह भी देखें कि बाकी लोगों ने उस विषय मे किस प्रकार लिखा है और आप कैसे उनसें बेहतर लिख सकते है।


9. लिखें और पढ़े


अंत मे आपको अपने लिखें गए आर्टिकल को बार-बार पढ़ना है जब तक आप सन्तुष्ट नही हो जाते की अपने एक अच्छा आर्टिकल लिखा हैं और जितना आप एनालिसिस करेंगे अपनी Article Writing Skill भी हर दिन उतनी ही बेहतर होगी।


साथ ही यह भी चेक़ करे कोई स्पेलिंग मिस्टेक तो आपसे नही हुई हैं और हर लाइन के शब्दों का फॉलो सही है या नहीं तो उस प्रकार आप लिखें और पढ़े तरीके का इस्तेमाल करके एक बेहतरीन आर्टिकल राइटर बन सकते हैं।


तो दोस्तों अब हम उमीद करते है कि आप समझ चुके होंगे कि किस पर आप एक Article Writing कर सकते है औऱ आपके Article Writing Format आपको कैसे तैयार करना है।


हम उम्मीद है यह आर्टिकल आपके लिए मदतगार रहा होगा और अगर आपको इस आर्टिकल से कुछ न कुछ मद्त मिलती है तो इसे शेयर जरूर करें ताकि हमें भी मोटिवेशन मिलता रहे इस प्रकार के आर्टिकल लिखने के लिए।


© 2021 by HYIFI INDIA PVT. LTD.

START GENERATING 100+ LEADS

PER DAY

 MUMBAI 

Anushakti Nagar,

Mumbai - 400094

 LUCKNOW 

 VARANASI 

Vivek Khand, Gomtinagar, Lucknow - 226010

Varuna Vihar, Kutchery,

Varanasi - 221002